India Water Impact Summit 2023

India Water Impact Summit 2023 Valuing Water | Transforming Ganga

बुधवार 28 फरवरी को नईदिल्ली के डॉ. अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित एक समारोह में देश की छह नदियों के बेसिन प्रबंधन की...
29/02/2024

बुधवार 28 फरवरी को नईदिल्ली के डॉ. अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित एक समारोह में देश की छह नदियों के बेसिन प्रबंधन की जिम्मेदारी देश की 12 तकनीकी शिक्षण संस्थाओं को सौंपी गई। इन संस्थाओं के निदेशक और परियोजना प्रमुख ने इस संबंध में अनुबंध पत्रों पर हस्ताक्षर कर उनका हस्तांतरण किया। यह समारोह माननीय जलशक्ति मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। श्री शेखावत ने अपने सारगर्भित संबोधन से वहां उपस्थित सभी श्रोताओं का दिल जीत लिया।

खिलखिलाएंगी हमारी नदियां  बुधवार 28 फरवरी को नई दिल्ली के डॉ. अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित एक गरिमापूर्ण समारोह मे...
29/02/2024

खिलखिलाएंगी हमारी नदियां
बुधवार 28 फरवरी को नई दिल्ली के डॉ. अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित एक गरिमापूर्ण समारोह में देश की छह विशाल नदियों महानदी, गोदावरी, कृष्णा, कावेरी, पेरियार और नर्मदा नदी के बेसिन प्रबंधन की जिम्मेदारी 12 तकनीकी शिक्षण संस्थाओं को सौंपी गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जलशक्ति मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत जी थे। 12 संस्थाओं में विभिन्न आईआईटी और एनआईटी शामिल है। इन संस्थाओं को मार्गदर्शन और नेतृत्व देने की जिम्मेदारी सी-गंगा की होगी। जल्द ही आपको देश के अन्य हिस्सों में सी-गंगा की तरह ही नदियों के हित में और बेसिन प्रबंधन के तकनीकी पक्षों को मजबूत करने की दिशा में काम करने वाले अन्य केंद्र भी सक्रियता से काम करते हुए नजर आएंगे।

Science is not just a subject, its a way of thinking
28/02/2024

Science is not just a subject, its a way of thinking

यह है राजस्थान की सांभर झील। यह भारत की सबसे बड़ी खारे पानी की झील है, इस झील से सालभर में लगभग 196,000 टन नमक उत्पादन हो...
23/02/2024

यह है राजस्थान की सांभर झील। यह भारत की सबसे बड़ी खारे पानी की झील है, इस झील से सालभर में लगभग 196,000 टन नमक उत्पादन होता है। हर साल सर्दियों में हजारों के संख्या में प्रवासी पक्षी इस झील के किनारे पहुंचते हैं।

ये हैं , निरंजना नदी। इसे फल्गु नदी के नाम से भी जाना जाता है। भगवान बुद्ध को इसी नदी के किनारे पीपल के वृक्ष के नीचे ज्...
22/02/2024

ये हैं , निरंजना नदी। इसे फल्गु नदी के नाम से भी जाना जाता है। भगवान बुद्ध को इसी नदी के किनारे पीपल के वृक्ष के नीचे ज्ञान की प्राप्ति हुई। भगवान महावीर ने भी इसी नदी के किनारे वर्षों तक तप किया। धार्मिक और सांस्कृतिक रूप से अत्यंत महत्वपूर्ण यह नदी अब बरसात में कुछ दिनों के लिए ही बहती है। इस नदी के पुनरूत्थान के उद्देश्य से हाल ही में नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा ने नमामि निरंजना अभियान प्रारंभ किया है।

This beautiful Waterfall is karkatgarh Waterfall, located in Kaimur district of Bihar on Karmanasha River. Karmanasha Ri...
21/02/2024

This beautiful Waterfall is karkatgarh Waterfall, located in Kaimur district of Bihar on Karmanasha River. Karmanasha River is a tributary of the Ganges.

बिहार के बोधगया नगर के महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र में मंगलवार को नमामि निरंजना मिशन का शुभारंभ हुआ। शुभारंभ समारोह बिहार ...
20/02/2024

बिहार के बोधगया नगर के महाबोधि सांस्कृतिक केंद्र में मंगलवार को नमामि निरंजना मिशन का शुभारंभ हुआ। शुभारंभ समारोह बिहार के राज्यपाल माननीय श्री राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के इस नए अभियान के शुभारंभ के अवसर पर एनएमसीजी के महानिदेशक श्री जी. अशोक कुमार और सी-गंगा के संस्थापक अध्यक्ष डॉ विनोद तारे भी उपस्थित थे। निरंजना रिवर रिचार्ज मिशन के औपचारिक शुभारंभ के बाद डॉ विनोद तारे की अध्यक्षता में तकनीकी सत्र आयोजित किया। जिसमें विभिन्न सरकारी, गैर सरकारी, प्रशासनिक और शैक्षणिक समूहों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

यह हैं, चित्रकूट वॉटरफॉल। इंद्रावती नदी का यह प्राकृतिक जलप्रपात छत्तिसगढ़ के बस्तर जिले में स्थित है। यह भारत का सबसे चौ...
17/02/2024

यह हैं, चित्रकूट वॉटरफॉल। इंद्रावती नदी का यह प्राकृतिक जलप्रपात छत्तिसगढ़ के बस्तर जिले में स्थित है। यह भारत का सबसे चौड़ा जलप्रपात है, जिसकी चौड़ाई मानसून में 980 फीट हो जाती है। इस वृहदता के कारण ही इसे भारत का नियाग्रा वॉटरफाल भी कहा जाता है।

यह है मध्यप्रदेश की जीवनरेखा, नर्मदा। आज समूचे मध्यप्रदेश में नर्मदा जयंति का उत्सव मनाया जा रहा है। नर्मदा की उत्पत्ति ...
16/02/2024

यह है मध्यप्रदेश की जीवनरेखा, नर्मदा। आज समूचे मध्यप्रदेश में नर्मदा जयंति का उत्सव मनाया जा रहा है। नर्मदा की उत्पत्ति को लेकर कई कथाएं प्रचलित है। एक बहुप्रचलित कथा के अनुसार शिवजी के पसीने की बूंद से नर्मदा की उत्पन्न हुई इसलिए नर्मदा को भगवान शिव की पुत्री माना जाता है।

This picture depicts the Yellow River of China. Yellow River is the second-longest river in China and the sixth-largest ...
15/02/2024

This picture depicts the Yellow River of China. Yellow River is the second-longest river in China and the sixth-largest river system in the world. Due to its muddy appearance, it got the name Yellow River. In Tibet, people call it the River of Peacock. It covers a total distance of 5, 464 km from the origin point to the final confluence in Bohai sea

ये हैं, पुनपुन नदी। इसका उदगम झारखंड के पलामू जिले से होता है और झारखंड से बहकर बिहार से गुजरते हुए अंतत: यह गंगा में सम...
14/02/2024

ये हैं, पुनपुन नदी। इसका उदगम झारखंड के पलामू जिले से होता है और झारखंड से बहकर बिहार से गुजरते हुए अंतत: यह गंगा में समा जाती है।

ये नदी है, दुर्गावती। बिहार के कैमूर जिले से बहकर यह कर्मनाशा नदी में समाहित हो जाती है और कर्मनाशा अंतत: गंगा में जा मि...
13/02/2024

ये नदी है, दुर्गावती। बिहार के कैमूर जिले से बहकर यह कर्मनाशा नदी में समाहित हो जाती है और कर्मनाशा अंतत: गंगा में जा मिलती है। कितनी तल्लीनता से प्रकृति ने इन नदियों और पहाड़ों को सजाया है और उतनी ही गंभीरता से संस्कृति ने इन नदियों का नामकरण किया है।

क्या आप जानते हैं? मध्यप्रदेश को नदियों का मायका कहा जाता है क्योंकि इस प्रदेश में छोटी और बड़ी कुल मिलाकर 150 नदियां बहत...
09/02/2024

क्या आप जानते हैं? मध्यप्रदेश को नदियों का मायका कहा जाता है क्योंकि इस प्रदेश में छोटी और बड़ी कुल मिलाकर 150 नदियां बहती है।

क्या जंगली जानवरों और नदियों के बीच कोई संबंध है? क्या जंगलों में जानवरों और तृतीयक उपभोक्ताओं यानी कि खतरनाक जंगली पशुओ...
07/02/2024

क्या जंगली जानवरों और नदियों के बीच कोई संबंध है? क्या जंगलों में जानवरों और तृतीयक उपभोक्ताओं यानी कि खतरनाक जंगली पशुओं की उपस्थिति नदी को प्रभावित करती है? या कर सकती है? जबाव है, हां। जिसका उदाहरण है यह वीडियो जो बता रहा है कि किस तरह जंगल में भेडियों की वापसी ने एक नदी को पुनर्जीवित कर दिया

Watch the newly released remastered version (in HD) ⟹ https://www.youtube.com/watch?v=W88Sact1kwsWhen wolves were reintroduced to Yellowstone National Park ...

क्या आप जानते हैं कि ब्रह्मपुत्र हमारे देश की सबसे गहरी नदी है। 380 फीट तक गहरी यह नदी 750 किमी लंबी है। उद्गम से संगम त...
06/02/2024

क्या आप जानते हैं कि ब्रह्मपुत्र हमारे देश की सबसे गहरी नदी है। 380 फीट तक गहरी यह नदी 750 किमी लंबी है। उद्गम से संगम तक की यात्रा में कई सहायक नदियां ब्रह्मपुत्र में समाकर इसके अस्तित्व को विशाल बनाती है।

Dr. Vinod Tare during his keynote lecture at SATVA 2024 a symposium organized by IIT Palakkad. Dr. Tare delivered a keyn...
04/02/2024

Dr. Vinod Tare during his keynote lecture at SATVA 2024 a symposium organized by IIT Palakkad. Dr. Tare delivered a keynote lecture on the topic "Playing with water and soil for life and business."

Dr Vinod Tare, Founding head of cGanga and Professor at IIT Kanpur, visited Siruthuli,  Noyyal life centre,  Ukkadam STP...
04/02/2024

Dr Vinod Tare, Founding head of cGanga and Professor at IIT Kanpur, visited Siruthuli, Noyyal life centre, Ukkadam STP & Vedapatty to understand the issues regarding Sewage in Coimbatore.

He spoke at length about the origin and the objectives of River systems that has continued to evolve over the years. Dr. Tare emphasized the concept of Scientific decentralized sewage treatment methods and illustrating the river's inherent ability to remain intact and serve humanity. He advocated for the preservation of the river's flow, emphasizing the need to leave some water for the river's well-being.

Do you know that wetlands cover only around 6percent of earth's land surface but 40 percent of all plant and animal spec...
02/02/2024

Do you know that wetlands cover only around 6percent of earth's land surface but 40 percent of all plant and animal species live or breed in wetlands. wetland biodiversity matters for our health, our food supply, for tourism and for jobs.

Naman...
30/01/2024

Naman...

Do you know that   has the most rivers and canals in India, with over 70 rivers flowing through state.
29/01/2024

Do you know that has the most rivers and canals in India, with over 70 rivers flowing through state.

26/01/2024
क्या आप जानते हैं कि भारत का संविधान हर नागरिक को शुद्ध पेयजल की उपलब्धता का अधिकार प्रदान करता है। संविधान के आर्टिकल 2...
26/01/2024

क्या आप जानते हैं कि भारत का संविधान हर नागरिक को शुद्ध पेयजल की उपलब्धता का अधिकार प्रदान करता है। संविधान के आर्टिकल 21 के अंतर्गत जीवन का अधिकार के तहत शुद्ध पेयजल की उपलब्धता हर भारतीय का मूलभूत अधिकार है। गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं...

राष्ट्रीय मतदाता दिवस की शुभकामनाएं: इस बार मतदान करने से पहले सड़क, पुल, बेरोजगारी के साथ यह भी देखिएगा कि आपका मत चाहने...
25/01/2024

राष्ट्रीय मतदाता दिवस की शुभकामनाएं:
इस बार मतदान करने से पहले सड़क, पुल, बेरोजगारी के साथ यह भी देखिएगा कि आपका मत चाहने वाला उम्मीदवार आपके इलाके की बड़ी या छोटी, प्रसिद्ध या गुमनाम हो चुकी नदी के प्रति क्या राय रखता है? क्या नदी का संरक्षण उसके द्वारा किये जा रहे वादों में शामिल है क्योंकि नदियां है, तो हम हैं।

Dr. Vinod Tare, the Founding Head of cGanga, addressed the ALL INDIA Secretaries Conference in Mahabalipuram, Tamil Nadu...
24/01/2024

Dr. Vinod Tare, the Founding Head of cGanga, addressed the ALL INDIA Secretaries Conference in Mahabalipuram, Tamil Nadu. The conference organized by the Ministry of Jal Shakti, centered around the imperative theme of "Water Vision@2047 and Way Ahead."
During this significant gathering, Dr. Tare presented a comprehensive discourse on "Condition Assessment and River Basin Management (RBMP)" for six pivotal river basins under the purview of the National River Conservation Plan (NRCP).
Heartfelt appreciation to the Ministry of Jal Shakti for facilitating this insightful conference. It is our collective responsibility to forge a path towards sustainable water stewardship.

हमारी नदियां भी पर्वतों की बेटियां हैं, पर्वतों की गोद में खेलकल, वनों के आंगन में संवरकर, वे मैदानों में उतरकर हमारी मा...
24/01/2024

हमारी नदियां भी पर्वतों की बेटियां हैं, पर्वतों की गोद में खेलकल, वनों के आंगन में संवरकर, वे मैदानों में उतरकर हमारी मां का दायित्व निभाती है।

राष्ट्रीय बालिका दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं...
24/01/2024

राष्ट्रीय बालिका दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं...

ये है, पनचीरा। पानी को चीर कर शिकार करने की खूबी की वजह से इसे पनचीरा या पंछीड़ा भी कहा जाता है। अंग्रेजी भाषा में इसे इं...
19/01/2024

ये है, पनचीरा। पानी को चीर कर शिकार करने की खूबी की वजह से इसे पनचीरा या पंछीड़ा भी कहा जाता है। अंग्रेजी भाषा में इसे इंडियन स्कीमर कहकर पुकारा जाता है। यह खूबसूरत पक्षी पहले पाकिस्तान, चीन, म्यांमार, ओमान और ईरान में भी पाया जाता था किंतु अब भारत और बांग्लादेश में ही इसकी जनसंख्या बची है। यह पक्षी साफ पानी के किनारों पर भरपूर नमी वाले रेत के टीलों पर वंश-वृद्धी करता है। यह खूबसूरत पक्षी इस दुनिया में बना रहे इसके लिए जरूरी है कि हमारी नदियां बहती रहे और किनारे अतिक्रमण से मुक्त रहे। आईए सब मिलकर इन पंछियों के घरों को बचाएं रखे।
फोटो : विकीपीडिया से साभार

Sundari trees after which the beautiful forest of sunderban has been named, are under threat of extinction. The increase...
18/01/2024

Sundari trees after which the beautiful forest of sunderban has been named, are under threat of extinction. The increase of saline water in sundarbans and climate change have become fatal to sundari trees.
Let's make our rivers healthy so that the flora and fauna of our coastal area will be healthy too.

सिखों के दसवें गुरू श्री गुरू गोविंदसिंह जी की जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं...गुरू गोविंदसिंह जी ने हिमाचल प्रदेश के सिरम...
17/01/2024

सिखों के दसवें गुरू श्री गुरू गोविंदसिंह जी की जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं...
गुरू गोविंदसिंह जी ने हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में यमुना नदी के किनारे दसम ग्रंथ का लेखन कार्य पूर्ण किया। आज उस स्थान को हम पांवटा सााहिब के नाम से जानते हैं। यहां एक भव्य गुरूद्वारा और गुरूद्वारे के समीप ही यमुना जी का मंदिर भी है। कल-कल बहती यमुना साक्षी है, गुरूगोविंद सिंह जी के उच्च आदर्शों, त्याग और वीरता की।

ये हैं, सरयू नदी। उत्तर भारत में बहने वाली सरयू को रामराज्य का साक्षी माना जाता है। इस नदी की यात्रा को समझना जरा कठिन ह...
16/01/2024

ये हैं, सरयू नदी। उत्तर भारत में बहने वाली सरयू को रामराज्य का साक्षी माना जाता है। इस नदी की यात्रा को समझना जरा कठिन है क्योंकि उद्गम से लेकर गंगा नदी में विलीन होने तक नदी को कई नामों से पुकारा जाता है। नदी का उद्गम उत्तराखंड के बागेश्वर नामक स्थान से होता है और जल्द ही यह शारदा नदी में विलीन हो जाती है, जिसे शारदा और काली के नाम से पुकारा जाता है। यह धारा घाघरा नदी में मिल जाती है और ऊंचाई से उतरकर मैदानों में पहुंची घाघरा नदी को अब सरयू नाम मिलता है। इसी सरयू के किनारे बसी है- अयोध्या। उत्तरप्रदेश से बहते हुए सरयू बिहार में प्रवेश करती है और छपरा के समीप गंगा में विलीन हो जाती है।

Address

Dr. Ambedkar International Center, DAIC
New Delhi

Website

Alerts

Be the first to know and let us send you an email when India Water Impact Summit 2023 posts news and promotions. Your email address will not be used for any other purpose, and you can unsubscribe at any time.

Share


Other Government Organizations in New Delhi

Show All