With RG

With RG Page runs by RG fans and this is not an official Page. Satyamev Jayate. Daro Mat.

11/01/2024

राम मंदिर बना राजनीतिक अखाड़ा

जब शंकराचार्य नहीं जा रहे तो राजनीतिक दल क्यों जायें ? शंक्राचार्यों ने कहा : प्राण प्रथिष्टा शास्त्र विधि के अनुसार नही...
10/01/2024

जब शंकराचार्य नहीं जा रहे तो राजनीतिक दल क्यों जायें ? शंक्राचार्यों ने कहा : प्राण प्रथिष्टा शास्त्र विधि के अनुसार नहीं हो रही। जवाब में राम मंदिर ट्रस्ट ने राम और शिव के उपासकों के मध्य लकीर खींच दी ये कहकर की मंदिर रामानन्द संप्रदाय का है, ना की शैवा /शक्ति संप्रदायों का । 🤔

“Lord Ram is worshipped by millions in our country. Religion is a personal matter. But the RSS/BJP have long made a poli...
10/01/2024

“Lord Ram is worshipped by millions in our country. Religion is a personal matter. But the RSS/BJP have long made a political project of the temple in Ayodhya. The inauguration of the incomplete temple by the leaders of the BJP and the RSS has been obviously brought forward for electoral gain”.

Congress president & LoP Rajya Sabha Mallikarjun Kharge, Congress Parliamentary Party chairperson Sonia Gandhi and Leader of Congress in Lok Sabha Adhir Ranjan Chowdhury decline the invitation

Be a Nyay Yodha.Don’t become complicit with a draconian Govt.Give the Missed Call…
10/01/2024

Be a Nyay Yodha.
Don’t become complicit with a draconian Govt.
Give the Missed Call…

न्याय की लड़ाई न्याय का हक़ मिलने तक
10/01/2024

न्याय की लड़ाई न्याय का हक़ मिलने तक

लोक सभा चुनाव की तैयारियों व देश के सबसे बड़े जन-आंदोलन के दूसरे अध्याय - 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' को सफ़ल बनाने के लिए...
10/01/2024

लोक सभा चुनाव की तैयारियों व देश के सबसे बड़े जन-आंदोलन के दूसरे अध्याय - 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' को सफ़ल बनाने के लिए आज अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के विभिन्न विभागों व अग्रिम संगठनों से गहन चर्चा जारी है।

चर्चा से पहले मेरे शुरूआती वक्तव्य के अंश -

• आज की बैठक का मुख्य एजेंडा 2024 के लोक सभा चुनावों और राहुल गाँधी जी के नेतृत्व में 14 जनवरी से शुरू होने वाली भारत जोड़ो न्याय यात्रा की तैयारियां हैं।

• साथियों आप जानते हैं कि कांग्रेस, जिसका 139 सालों का गौरवशाली इतिहास है।

• कांग्रेस सेवादल, जिसके अध्यक्ष गांधी जी, नेहरू जी और नेताजी सुभाष चंद्र बोस रह चुके हैं, हमारा Frontal संगठन इस समय शताब्दी मना रहा है।

• गांधी जी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की शताब्दी इसी साल है। अगले साल सरोजिनी नाय़डु के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की शताब्दी होगी।

• सेवादल, भारतीय युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, NSUI, INTUC के पास एक मजबूत आधार है। Frontal संगठनो में विदेश विभाग बहुत पुराना है, जिसका नेतृत्व हमारे कई दिग्गज नेताओं ने किया।

• Communication, Minority, SC, ST, OBC, Research, Overseas Congress, Fisherman Congress, Professional Congress, Unorganised Workers And Employees, विचार विभाग, Ex Servicemen, Kisan, Legal इन सबका काफी महत्वपूर्ण काम है।

• राजीव गांधी पंचायत राज संगठन से लेकर Technology & Data Cell, Social Media और Digital Media का अपना महत्व है। समय के साथ इनकी भूमिकाएं बदलती भी रही हैं।

• पिछले कुछ महीनो में हम सबने काफी मेहनत की। विपरीत माहौल में विधान सभा चुनावो में कांग्रेस को BJP से भी अधिक कुल 4.92 करोड़ वोट मिला, पर उम्मीद के मुताबिक सीटें हमें नहीं मिली। इन बातों की समीक्षाएं बैठकों में हुई हैं। पीछे देखने के साथ अब हमें आगे देखना है। हमें भरोसा है कि हमारी मेहनत रंग लाएगी।

• इस मौके पर मैं आप लोगों के समक्ष, 1952 में पहले लोक सभा चुनाव के बाद पंडित जवाहर लाल नेहरू के एक बयान का जिक्र करना चाहूंगा। उन्होंने कहा था कि-

“आम चुनाव में हम वहां सफल रहे जहां हमने जनता के बीच काम किया। लेकिन वहां फेल रहे जहां हमने केवल Public Meetings ही की। अगर हम जनता के साथ नहीं घुले मिलें, उनके बीच काम न करें तो हम उसका भरोसा जीत लेने की आशा नहीं कर सकते हैं।”

• आप सभी महसूस कर रहे होंगे कि देश बदलाव चाहता है। लेकिन इसे साकार बनाने के लिए हमें जमीनी स्तर पर रात-दिन श्रम करना होगा।

• राहुल गांधी जी के नेतृत्व में 14 जनवरी से ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ मणिपुर से शुरू होने वाली है। करीब 6,700 किलोमीटर दूरी तय करके यह यात्रा 15 राज्यों से होकर मुंबई में समाप्त होगी। ये सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय तीनों पर केंद्रित है। इस यात्रा की सफलता में हम सबकी भूमिका होगी। Frontal Organizations, Departments और Cells के साथियों की खास भूमिका होगी।

• ये आम यात्रा नहीं बल्कि देश में लोकतंत्र और संविधान बचाने की यात्रा है। राहुलजी के नेतृत्व में भारत जोड़ो यात्रा निकली जो ऐतिहासिक रूप से बेहद सफल रही। फिर भी ये यात्रा निकालनी पड़ी, क्योंकि संसद जैसे राष्ट्रीय मंच का दरवाज़ा मोदी सरकार ने बंद कर दिया है। देश के बुनियादी मसलों पर संसद में चर्चा बंद है। मणिपुर से लेकर संसद की सुरक्षा, बेरोजगारी, महंगाई और दूसरे सभी सवालों पर चर्चां की इज़ाज़त ही नहीं है।

• Winter session में देश के संसदीय इतिहास में सबसे ज्यादा 146 विपक्षी सांसद Suspend हुए। इनका गुनाह क्या था। ये संसद पर हमले की घटना पर चर्चा चाहते थे। सरकार ने इनको suspend किया और फिर Criminal Law Bills, Telecommunication Bill, CEC Bill जैसे बिलों को बिना विपक्ष की भागीदारी के पास कराया। जनविरोधी बिल उसी तरह पास हुए जैसे 2020 में कृषि कानूनों को पास किया था। अब जनता इनका विरोध करने लगी है।

• मोदी जी ने संसद को अभिनंदन और जयजयकार का मंच बना दिया है। हमें ये मंजूर नहीं है। इसलिए जनता के बुनियादी सवालों पर जनता के बीच जाने का रास्ता ही बचता है। और राहुलजी जनता के बीच जाकर अपनी यात्रा में सामाजिक, आर्थिक न्याय, महंगाई, बेरोजगारी, किसानों, मजदूरों के सवालों, जातिगत जनगणना और दूसरे मसलों पर जन जागरण करेंगे।

• भाजपा इन मुद्दों पर अपनी विफलता को स्वीकार करने से बच रही है और इसलिये भावनात्मक कार्ड खेल कर ध्यान भटका रही है। लेकिन हमें भरोसा है कि यह यात्रा इन मुद्दों को राष्ट्रीय चर्चा में लाएगी।

• आज माहौल अलग है। विपक्ष एक साथ है। इसीलिए INDIA गठबंधन की ताकत से NDA की बेचैनी साफ दिख रही है। वे INDIA गंठजोड़ की शक्ति को समझ गए हैं।

• कहीं फर्जी सर्वेक्षण हो रहे हैं तो कहीं मोदी साहब NDA में दलों को शामिल करने से निराश होकर यह कहने लगे हैं कि देश को मिली जुली सरकार की जरूरत नहीं है। वे खुद मिली जुली सरकार चला रहे हैं, अटलजी ने मिली जुली सरकार चलायी। अब ये बात केवल इस लिए कह रहे हैं क्योंकि उनके पास दलों के नाम जो लिस्ट है वह सिर्फ़ पारिवारिक दल ही हैं, कइ दलों का तो अपना एक MP तक नहीं है। इस नाते वे लोगों में भ्रम फैलाना चाहते हैं।

• UPA-1 और 2 में COMMON MINIMUM PROGRAMME को आगे रख कर जनता को मजबूत बनाने का काम हुआ। MNREGA, FOOD SECURITY और भूमि अधिग्रहण, वनाधिकार और सूचना का अधिकार जैसे क्रांतिकारी कानून हमने बनाए। किसानों की हमने कर्जमाफी की।

• NDA ने ऐसा एक भी काम नहीं किया। उनके पास सफलता की एक भी ऐसी कहानी नहीं है जो UPA के बराबर की रही हो। उलटे 70 सालों की मेहनत से बनी संपदा को उन्होने चंद मित्रों के हवाले कर दिया, ये बात सब जानते हैं।

• पिछले 10 सालो में सिर्फ़ नाम बदलने का ही काम हुआ है। कांग्रेस यूपीए की योजनाओं को बदला। ये बिना जमीन के मकान बनाने का काम करने वाले लोग हैं।

• इनकी 10 साल की नाकामियों की फेहरिश्त को लोगों के सामने रखना है। अमीरी और गरीबी क बीच बढ़ती खाई, 45 साल की सबसे खतरनाक बेरोजगारी जैसे सवालों को परदे के पीछे नहीं जाने देना है। जातिगत जनगणना की अपनी मांग पर कायम रहना है, वे इस पर गरीबी का जो रंग दे रहे हैं, उसकी हकीकत लोगों के सामने रखनी है। सामाजिक न्याय इसकी काट है।

• साथियों, पिछले 19 दिसंबर 2023 को दिल्ली में INDIA गठबंधन की चौथी बैठक में सीट-बंटवारे से लेकर तमाम मसलों पर चर्चा की थी। उसमें प्रगति हो रही है, काम जारी है। इस बीच में कांग्रेस के 139वें स्थापना दिवस पर हमने नागपुर में एक बड़ी सफ़ल रैली की और कई पहल की हैं।

• चुनाव के लिहाज से आप सभी को भी अपनी भूमिकाओं का विस्तार करना है। वोटरों के साथ लगातार संपर्क में रहना है। उनके सवालों का जवाब देने के साथ राजनीतिक विरोधियों द्वारा फैलायी जा रही झूठी बातों की काट करनी है। अपनी बात भी रखनी है। हमेशा discipline में रहना है। ऐसी कोई टीका टिप्पणी नहीं करनी है जिसके चलते बात खराब हो।

• BJP के पास RSS का ऐसा संगठन है जो चुनावी फ़ायदे के लिए समाज में ध्रुवीकरण कर लोगों को बाँटने का काम करती है। हमें जनता के मुद्दों के साथ अपनी विचारधारा को आगे रख कर लड़ना है। लड़ेगे और जीतेंगे।

• आप सबने देखा है और आपके सामने सोनिया गांधी जी का उदाहरण है जिन्होंने Personal Sacrifice कर 25 वर्ष तक कांग्रेस पार्टी को खून-पसीने से सींचा। उनके नेतृत्व में दो बार केंद्र में सरकार बनी, जिसने ऐतिहासिक काम किया। उदयपुर शिविर के बाद सोनियाजी के नेतृत्व में कांग्रेस ने कई अहम फैसले लिए थे जिनके आधार पर हमने कई बदलाव किए हैं।

• मैं अपने युवा साथियों से अपील करना चाहूंगा कि वे और अधिक जिम्मेदारी के साथ काम करें। विश्व में भारत सबसे युवा देश है, जिसकी करीब 65% आबादी 35 साल से कम उम्र की है। आप सब संचार के आधुनिक तरीकों से जुड़े हैं। सोशल मीडिया राजनीति को काफी प्रभावित कर रहा है। इस साधन में पुरानी पीढ़ी की तुलना में नौजवान साथी अधिक ताकतवर हैं। उनको अधिक सजगता के साथ तमाम मुद्दों पर ध्यान देना है। जिन बातों का हम जवाब दें, उसमें तथ्य हों और शालीनता भी हो।

• हमारी लड़ाई BJP और RSS की मानसिकता से है। उनके काम के तरीके अलग हैं। हमारे संगठन का हर Unit डट कर खड़ा हो जाये तो हम इनको आसानी से हरा सकते हैं। सोनियाजी के नेतृत्व में 2004 और 2009 में लगातार दो बार हम सब मिल कर उनको पराजित कर चुके हैं। बस हमें अपनी ताकत को पह्चान कर, अपने विचारों पर एक होकर कायम रहना है।

अहंकार, पाप और झूठ की उम्र बहुत कम होती है लेकिन सत्य अजर अमर होता है। हमारे नायकों ने सत्य के रास्ते संघर्ष का जो रास्ता हमें सिखाया है, उसी पर कायम रहते हुए जनता को न्याय दिलाने के साथ हम विजय हासिल करेंगे।

धन्यवाद!
जय हिन्द, जय कांग्रेस 🇮🇳

मैं राजीव से बात करना चाहता हूँ..   रात के 3 बजे, मालदीव के राष्ट्रपति ने इसरार की। थके हुए, मगर बेहद कृतज्ञ गयूम का सम्...
10/01/2024

मैं राजीव से बात करना चाहता हूँ.. रात के 3 बजे, मालदीव के राष्ट्रपति ने इसरार की। थके हुए, मगर बेहद कृतज्ञ गयूम का सम्पर्क, सेटेलाइट फोन से राजीव से कराया गया। राजीव उस रात सोए नही थे। उन्हें इस कॉल का इंतजार था।

●● दिल्ली में राजीव से गयूम की मुलाकात तय थी, मगर अपरिहार्य कारणों से उनका दौरा स्थगित हो गया था। इसकी खबर विरोधियों को नही थी। श्रीलंका में बैठे गयूम के विरोधी अरबपति ने सरकार पलटने की योजना बना रखी थी। लंकाई चीतों से डील सेट थी। गयूम दिल्ली में होते, माले में हमला होता। भाड़े के लड़ाके, हाईजैक किये शिप से माले उतरे। बहुत से इसके पहले ही, आम वेशभूषा में माले पहुँच गए थे। 4 नवंबर 1988 की रात हमला हुआ।

●●● छोटा सा शहर- आप एयरपोर्ट, टेलीफोन एक्सचेंज, सेक्रेट्रीटीएट जैसी आधा दर्जन बिल्डिंग कब्जा कर लें, तो सत्ता आपकी हुई। भाड़े के विद्रोही कब्जा कर चुके थे। लेकिन राष्ट्रपति को भी तो हिरासत में लेना होगा। वे अपने पैलेस में नही थे। हमले की खबर से वे कहीं छिप गए। और वहीं से अमेरिका से मदद मांगी। मगर डिएगो गार्सिया से मदद आने में कुछ दिन लगते। श्रीलंका और पाकिस्तान से मदद मांगी। पाकिस्तान ने क्षमता न होने का बहाना किया, श्रीलंका चीतों से उलझना नही चाहता था। तो ब्रिटेन से मदद मांगी। थैचर ने सलाह दी- भारत से मदद मांगो।

●● राजीव कलकत्ता में थे, जब खबर आई। रक्षा और विदेश मंत्रालय की संयुक्त बैठक रखी गयी।राजीव सीधे एयरपोर्ट से वहीं पहुचें। आर्मी, नेवी, एयरफोर्स का एक संयुक्त ऑपरेशन तय किया गया। नाम - ऑपरेशन कैक्टस कई योजना बनी, बिगड़ी। पैराट्रूपर्स उतारने की बात सोची गयी, मगर माले इतना छोटा की ज्यादातर सैनिक, समुद्र में गिर जाते। फिर एक डेयरिंग योजना बनी।

10/01/2024
09/01/2024
09/01/2024

टोल को लेकर मोदी जी के मंत्री का दावा और उसकी हकीकत...

चार शंकराचार्यों ने राम मंदिर के उद्घाटन कानिमंत्रण ठुकरा दिया है जो इस सत्य को उजागर कर दिया है कि मंदिर का इस तरह उद्घ...
09/01/2024

चार शंकराचार्यों ने राम मंदिर के उद्घाटन का
निमंत्रण ठुकरा दिया है जो इस सत्य को उजागर कर दिया है कि मंदिर का इस तरह उद्घाटन राम के लिए नहीं बल्कि चुनाव के लिए हो रहा है।
ये ताली और थाली की सरकार को जनता और उसके भले से कोई मतलब नहीं है, मतलब है तो बस इस बात से है के सत्ता को कैसे पकड़े रहना है ।
सच्चा हिंदू हो तो वो ये कभी नहीं चाहेगा के प्रभु श्री राम को एक चुनावी खिलौना बनाके उनका इस्तेमाल किया जाये ।

India's DaughterSays some things that need to be reminded repeatedly:1. All the men who attacked Bilkees Banu knew them ...
08/01/2024

India's Daughter

Says some things that need to be reminded repeatedly:

1. All the men who attacked Bilkees Banu knew them directly from childhood. From the old man who used to buy milk from their house, they called uncle to the doctor who treated their father, were in the group. They were the ones who bought the baby from Bilkis and hit the ground to death.

2. It was a tribal woman who gave them clothes, who were lying in the middle of a pile of dead bodies when they regained consciousness. They went to the police station alone and told the names and details of the attackers. But a policeman named Somabhai Gori chased them away and refused to accept the complaint (He was later punished by the court)

3. Unlike other r**e victims, Bilkis has come in front of the media without forgetting his own face. Husband Yakoob Rasool is the one who is still standing with me giving all the support for their law is not enough (Muslim marriage relationships are not like in Priyadasan's movie)

4. When the attackers came out last year, there was a large Hindu crowd to receive them by wearing necklaces and giving laddu; including women. There was also a statement by the BJP MLA that since they are Brahmins, there is no possibility of committing the crime.

5. Why Bilkees, who is constantly fighting for her justice by risking her life and overcoming pressure, is not called "India's Daughter"? Why are they not mentioned in the mainstream feminist narrative? How many women have fought so complexly? What other than their identity prevents the mainstream from celebrating them?

Courtesy : Bindu Jacob

Bilkis Bano gets some relieving verdict after a long time. Thankfully no more convicts are released to torment her days ...
08/01/2024

Bilkis Bano gets some relieving verdict after a long time. Thankfully no more convicts are released to torment her days and nights.
A sincere thanks to the SC of India for giving a verdict that all women in India welcome and respect for its fairness.

The Supreme Court on Monday quashed the Gujarat government's decision to grant remission to 11 convicts in the case of gangr**e of Bilkis Bano and murder of seven of her family members during the 2002 riots in the state, saying the orders were "stereotyped" and passed without application of mind.

Bharat Jodo Nyay Yatra begins its fight for Justice to free India from fascism
07/01/2024

Bharat Jodo Nyay Yatra begins its fight for Justice to free India from fascism

06/01/2024



06/01/2024

Listen to on 's illegal coal mining

05/01/2024

Sanghis love to say that Mughals and other Muslim rulers who ruled India for 600 years, forced conversions to Islam.

Yet after 6 centuries of their rule, undivided India had only 24.3% Muslims. Which meant that nearly 75% were Hindus.

Whereas Buddhism at its height was pretty widespread especially after Asoka embraced it, but is now only .7% of the population.

The same Sanghis will hem and haw and say that Buddhists were never suppressed or persecuted, but their religion died out anyway.

And the truth is that yes there were many reasons both for Islam to spread as well as Buddhism to die out.

But if you insist that Islam was spread at the point of a sword then the same can be said for the death of Buddhism.

What is sauce for the goose is sauce for the gander.

Courtesy - Lata Tauro

05/01/2024

अमीरों और गरीबों का दो अलग–अलग हिंदुस्तान बनाया जा रहा है।

तो नदी में तैरने वाली और मगरमच्छ का बच्चा पकड़ने वाली कहानी भी झूठी निकली !! (एक बार तैरना आ जाए तो दुबारा नहीं सीखना पड...
05/01/2024

तो नदी में तैरने वाली और मगरमच्छ का बच्चा पकड़ने वाली कहानी भी झूठी निकली !!
(एक बार तैरना आ जाए तो दुबारा नहीं सीखना पड़ता)
हे राम !!

Think about it
05/01/2024

Think about it

Reason why he was called a VISIONARY, hence proved now.
05/01/2024

Reason why he was called a VISIONARY, hence proved now.

यही तो है मूर्खता का प्रमाण
05/01/2024

यही तो है मूर्खता का प्रमाण

Bharat Jodo Nyay Yatra
04/01/2024

Bharat Jodo Nyay Yatra

The no of people and sections of society, who are ignored and marginalized by Modi, are very high.
04/01/2024

The no of people and sections of society, who are ignored and marginalized by Modi, are very high.

“भारत जोड़ो न्याय यात्रा” का रूट मैप 🛣️📍मणिपुर से मुंबई (14 जनवरी-20 मार्च)• मणिपुर | 107 किमी | 4 जिला• नागालैंड | 257 ...
04/01/2024

“भारत जोड़ो न्याय यात्रा” का रूट मैप 🛣️

📍मणिपुर से मुंबई (14 जनवरी-20 मार्च)

• मणिपुर | 107 किमी | 4 जिला
• नागालैंड | 257 किमी | 5 जिला
• असम | 833 किमी | 17 जिला
• अरुणाचल प्रदेश | 55 किमी | 1 जिला
• मेघालय | 5 किमी | 1 जिला
• पश्चिम बंगाल | 523 किमी | 7 जिला
• बिहार | 425 किमी | 7 जिला
• झारखंड | 804 किमी | 13 जिला
• उड़ीसा | 341 किमी | 4 जिला
• छत्तीसगढ़ | 536 किमी | 7 जिला
• उत्तर प्रदेश | 1,074 किमी | 20 जिला
• मध्य प्रदेश | 698 किमी | 9 जिला
• राजस्थान | 128 किमी | 2 जिला
• गुजरात | 445 किमी | 7 जिला
• महाराष्ट्र | 480 किमी | 6 जिला

यात्रा की दूरी: 6,700 किमी. से ज्यादा

67 दिन | 110 जिला | 100 लोकसभा | 337 विधानसभा

04/01/2024

Hello and good morning: In this 1 minute episode of , I expose the being spread by the rightwing ecosystem on Pandit Nehru and the UN Security Council seat. Be careful of the falsehoods.

Address

New Delhi

Opening Hours

Monday 9am - 5pm
Tuesday 9am - 5pm
Wednesday 9am - 5pm
Thursday 9am - 5pm
Friday 9am - 5pm
Saturday 9am - 5pm
Sunday 9am - 5pm

Telephone

1212121212

Alerts

Be the first to know and let us send you an email when With RG posts news and promotions. Your email address will not be used for any other purpose, and you can unsubscribe at any time.

Contact The Business

Send a message to With RG:

Videos

Share

Category

Voice Of People

Team #WithRG is a group of volunteers from across the country with strong belief in leadership of Congress President Sri. Rahul Gandhi. The team is a blend of political and non political young minds who are bound together by the goal of achieving the vision of RG and Congress.

Team has grown tremendously on Social Media in last few years with acumen and prowess and is now a force to reckon with.



You may also like